BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Thursday, 8 November 2012

UPTET - यूपी: टीईटी पास बीएड डिग्री धारक सीधे बनेंगे शिक्षक

UPTET - यूपी: टीईटी पास बीएड डिग्री धारक सीधे बनेंगे शिक्षक

लखनऊ/ब्यूरो सूबे में 72825 शिक्षकों की भर्ती का प्रस्ताव बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेज दिया है। इसके लिए उत्तर प्रदेश अध्यापक सेवा नियमावली के नियम 14 में शिक्षकों की सीधी भर्ती का प्रावधान किया गया है।
अब इसे कैबिनेट से मंजूरी के लिए भेजने की तैयारी है। राज्य सरकार चाहती है कि नियमावली को यथा शीघ्र संशोधित कर दिसंबर अंत तक प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती शुरू कर दी जाए।
शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने सभी राज्यों को टीईटी पास बीएड डिग्री धारकों को प्राइमरी स्कूलों में सीधे सहायक अध्यापक पदपर रखने की अनुमति दी थी। यूपी में 31 मार्च 2014 तक टीईटी पास डिग्री धारकों को प्राइमरी स्कूलों में सीधे सहायक अध्यापक केपद पर रखने जाने की योजना है।
गौरतलब है कि राज्य सरकार ने पूर्व में तय किया था कि टीईटी पास बीएड डिग्री धारकों छह माह का विशिष्ट बीटीसी की ट्रेनिंग देकर सहायक अध्यापक नियुक्ति किया जाएगा लेकिन एकनवंबर को बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोबिंद चौधरी ने शिक्षा अधिकारियों की बैठक में यह तय किया था कि बीएड पास अभ्यर्थियों को विशिष्ट बीटीसी की ट्रेनिंग न देकर सीधे टीईटी पास बीएड डिग्री धारकों प्राइमरी स्कूलों में प्रशिक्षु शिक्षक के पद नियुक्ति दी जाएगी।
इसके आधार पर बेसिक शिक्षा निदेशालय से प्रस्ताव मांगा गया था। इसमें शिक्षकों का चयन जिलेवार मेरिट के आधार पर किया जाएगा। मेरिट हाई स्कूल, इंटर, स्नातक और बीएड के आधार पर बनाई जाएगी। आवेदन जिलेवार ऑनलाइन लिए जाएंगे।
आवेदन के लिए अभ्यर्थियों को ऐच्छिक छूट होगी। प्रशिक्षु शिक्षकों को सेवाकाल के दौरान छह महीने की ट्रेनिंग प्राप्त करनी होगी। इस अवधि में उन्हें 7300 रुपये निर्धारित मानदेय दिया जाएगा और ट्रेनिंग पूरी करने के बाद सहायक अध्यापक वेतनमान दिया जाएगा


Source - Amar Ujala
8-11-2012

55 comments:

Gaurav Yadav said...

Court ke order ke baad sansodhan ka kaam suru ho gaya hai. Fir bhi gov. slow karne ki puri kosish karegi. But selection base still unclear. B.ed.30% or 12-12.

Sandeep sahu said...

Gaurav ji ye sach h ki sarkar ne abhi tak ye clear nahi kiya h ki bharti me B.ed.ki kya bhumika h.

abhishek mishra said...

sabse badi tension tet merit suppoters ko lekar hai.jaise hi add ayega ye log fir se writ laga denge.actualy ye log bharti chahte hi nahi hai.mere tet me 115 hai fir bhi me tet merit ko support nahi karta.kyunki hum sabhi jaante hai isme kitni dhaandli huyi.paise dekar no. Badwaye gaye.

Gaurav Yadav said...

Abhishek ji mere bhi tet me 113 hai, flat 258, new gudank 62.90 hai, me bharti suporter hu, aur selection base selection authority tay karti hai, or use ye adhikar diye gaye hai usme supreme court bhi khuch nahi karega, chaho to add ane ke bad dekh lena.

Gaurav Yadav said...

Sandeep ji SCERT ne ye to clear kar diya hai ki b.ed. Ke % add honge but ye to last sanshodhan hone ke bad pata chalega ki kitna % liya jayega ya 12 12 marks liye jayenge.

abhishek mishra said...

bus yahi to me chahta hun gaurav ji ki ab bus bharti ho.ab koi prblm na ho

abhishek mishra said...

bus bharti ho

kapil yadav yadav said...

merit new gunak sestam se hi baneg chyan ka adhar sarkar tay karti hai na ki cort jaisa ki sabhi jante lekin ye afwa udai ja rahi hai ki merit tet ki banegi jab tet ko patrata pariksha ka darja diya gya hai to log kyo afwa faila raha hai

kapil yadav yadav said...

agar koi bharti me adnga dalta hai to tet2012 ke log aa jayenge tab sabhi log katora lekar chwrahe pe bikh mangna abhi bi waqt hai writ dalne walo sudhar jao ho sakta aap ka is bharti hojaye lekin ek bar2012 tet ho gaya to 2011 walo ka lagbhag patta cat gayeg

Gaurav Yadav said...
This comment has been removed by the author.
Gaurav Yadav said...
This comment has been removed by the author.
Puspendra said...

Tet merit k bare me sochne ki jrurat hi nahi hai, wo ek qulifyed exam hai use chayn ka aadhar koi court nahi bana sakti hai, ha agar gov jahe to bana sakti hai, lekin gov ka eaisa koi mood nahi hai, so think abou gunak.

DOON GROUP said...

selection ka adhar
1. kalyan method
Hs+Inter+Graduaion+B.ed
2.Bahin ji method
for:-tet merit
3 Bhaiya ji Method
Hs10%+Inter20%+Gra.40%+B.ed 12-6-3
4. flane singh method
Hs10%+Inter20%+Gra.40%+B.ed30%
5. mare According
Bs bharti ho kaise bhi ho ……..Sali chit bhi apni aur pet bhi apni

abhishek mishra said...

koi batayega is naye method b.ed 30% hone se mere chance kitne hai.general science 64.43 ban rahi hai.

K.G.YADAV said...
This comment has been removed by the author.
Rajkumar Sharma said...

Base chahe kuch b ho,bharti ho..
Neta giri band kro..

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...


TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAM HIGH COURT JAYEN SA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI YADI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

ashu yadav said...

ab bharti 90000 ho gayi hai new gunank gen 59 obc 55 sc 50 nishchit taur ho jayega .
SOURC:ETV NEWS.
THAT IS CONFORM NEWS

ashu yadav said...

ab bharti 90000 ho gayi hai new gunank gen 59 obc 55 sc 50 nishchit taur ho jayega .
SOURC:ETV NEWS.
THAT IS CONFORM NEWS

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

jo laog kahte hain ki bharti ho kaise bhi ho we sabse swarthi log hain unse poochhen kya is base par bhi taiyar honge pahle 40 year olde the 39 then 38..............................................................

jyada smart nabane ye publik hai sab janti hai

K.G.YADAV said...
This comment has been removed by the author.
K.G.YADAV said...
This comment has been removed by the author.
sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

ye kg yadav to gaya kam se!!!

rudra rai said...

tiwari teri maa ki chut sale agar teri maa budhe mulayam se chudwa le bhi to bharti aab tet merit se nahi hogi

rudra rai said...

sale tet ki aulad tu duniya se door apni maa ki bur me rahta hai kya sale tet tet kahta hai

rudra rai said...

bhosani ke agar tu meri baat ka jawab de diya to mai jaan a jaunga ki teri maa sach me budhe mulayalam se chudwati hai

rudra rai said...

sabhi tet merit supoeter ab gand marwane ka dhanda khol lo sale

amit said...

Tet merit jindabad patrata exam me jo sabse jayada patra ha usko sabse pahle naukri kyo nahi milani chahiye jabab do

amit said...

tet prikshiya sabhi ko ak saman plateform date hai so tet is best nothing more ..
khai bordo ka anter hai to khai university ma number bhadana ka khale hai khai nakal to khai 2004-05 sa phala kam marit bana ka karan bhiya ji kasa sabhi ko saman karanga im possable only tet merit solve this
koi aour rasta hai to vicharo ka sauyagat hai bhiyo

genral science , tet 121 ,accadamic 227 ,old gurank 63.67 new gurank 58.12

koi bataiya qua chance hai bhiyo

amit said...

rudra ji q qua tum ya dghanda band kar rahao ho qua yar chalta dhanda band ni karna chiya quki dobara shru karna ma waquat lagta hai

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

kyo sale gali de rhe ho hijdo dam hai to mujhe call karo,
my. Mob. No. Is this

DILIP ALIGARH said...

Hi friends
I am Sc Science Candidate
mera kya chance hai
Tet 100
Merit 242
Old gunark 69.11
New gunark 65.23

Pankaj Singh said...

hi gdmrng frnds

Pankaj Singh said...

aj ki koi news

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAM HIGH COURT JAYEN SA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI YADI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा।

Vishal Dubey said...

UPTET : टीईटी से भर्ती में फिर नजर आई 'रोशनी' सहारनपुर : इस बार दीपावली उन लाखों टीईटी (शिक्षक पात्रता परीक्षा)अभ्यर्थियों के जीवन में 'उजाला' तो नहीं कर सकेगी जो एक वर्ष से नियुक्ति की आस संजोए बैठे थे, लेकिन एक झरोखे से 'रोशनी' की किरण उन्हें जरूर दे रही है। एक माह के भीतर विज्ञापन जारी करने के हाईकोर्ट के ताजा आदेश से उम्मीदों को पंख लग गए हैं। टीईटी की मेरिट के आधार पर प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति। यह प्रावधान नवंबर- दिसंबर 2011 में जारी विज्ञापन में निर्धारित था। बता दें कि प्रदेश में टीईटी की प्राथमिक परीक्षा में 2.70 लाख से अधिक अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए थे। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान पटनी में 800 पदों के सापेक्ष 1.15 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन पत्र भरे थे। फरवरी-2012 में घोटाला सामने आने के बाद तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन सहित कई लोग गिरफ्तार हुए थे और इसके बाद प्रक्रिया पर विराम लग गया था। इसी के साथ भर्ती के विज्ञापन के आधार को लेकर मामले को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई। प्रदेश सरकार द्वारा भर्ती प्रक्रिया का आधार बदले (टीईटी को केवल पात्रता रखने) जाने के बाद से पूरा मामला और पेचीदा हो गया। टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया में घोषित मेरिट के आधार पर ही नियुक्ति की मांग पर अड़े है। हाल ही में हाईकोर्ट द्वारा प्रदेश सरकार को एक माह के भीतर विज्ञापन जारी करने का आदेश दिया है इसके आधार पर 72 हजार 825 प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति की जानी है। टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा। News Source : Jagran (8.11.12) / http://

Gaurav Yadav said...

उर्दू शिक्षकों की भर्ती में फिर फंसा पेंच
न्याय विभाग ने कहा एनसीटीई से लें स्वीकृति
•अमर उजाला ब्यूरो लखनऊ।
प्राइमरी स्कूलों में मोअल्लिम डिग्री धारक 3480 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में एक बार फिर पेंच फंस गया है। मोअल्लिम डिग्री धारक अभ्यर्थियों को प्राइमरी स्कूलों में सीधे सहायक शिक्षक बनाने को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से राय मांगी थी। लेकिन न्यायविभाग ने इस मामले में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षापरिषद (एनसीटीई) से स्वीकृति लेने का सुझाव देते हुए फाइल विभाग को लौटा दिया है।मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों के लिए टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर छह माह की ट्रेनिंग के बाद सीधे उर्दू सहायक शिक्षक बनाने पर सरकार विचार कर रही है। प्रदेश में वर्ष 1994-95 में प्राइमरी स्कूलों में उर्दू के सहायक अध्यापक रखे गए थे। बेसिक शिक्षा विभाग ने मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लेमा इन उर्दू टीचिंग उपाधि को इसके लिए पात्र माना था। लेकिन बाद में इन उपाधियों को अपात्र मान लिया गया। इस संबंध में मोअल्लिम-ए-उर्दू वालों नेहाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया और सुनवाई के बाद फैसला उनके पक्ष में हुआ। राज्य सरकार ने इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुज्ञा याचिका (एसएलपी) दाखिल की। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई चल ही रही थी कि 29 जून 2011 को तत्कालीन मायावती सरकार ने एसएलपी वापस लेकर इन उपाधि धारकोंको प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापक बनाने का निर्णय कर लिया। इसके लिए 1997 से पहले मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग करने वालों को पात्र माना गया। इसके आधार पर ही नवंबर 2011 में आयोजित टीईटी में इन्हें शामिल होने की अनुमति दी गई। पर मोअल्लिम-ए-उर्दू वाले टीईटी दिए बिना ही शिक्षक बनना चाहते थे। कुछउपाधि धारक टीईटी में शामिल हुए लेकिन अधिकतर शामिल नहीं हुए। इन उपाधिधारकों ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात कर टीईटी की अनिवार्यता समाप्त कर शिक्षक बनाने की मांग की। इसके बाद शासन ने सीधे मोअल्लिम-ए-उर्दू और डिप्लोमा इन उर्दू टीचिंग उपाधिधारकों को सहायक शिक्षक बनाने की कवायद मेंजुटा है।उर्दू सहायक शिक्षकों की भर्ती का मामलाबेसिक शिक्षा विभाग ने न्याय विभाग से मांगी थी राय

Pankaj Singh said...

jo tet merit basis pr selection ki bt karte h mujhe lagta wo log thodha kam dimag rakhte h
qki ncte me clear h tet bas qualifying exam to another stage not selection

Puspendra said...

India ka koi state hai jaha par tet merit k aadhar par bharti hui hai.... Nahi, ha himanchal gov ne eaisa kiya tha lekin court ne use hta diya, kyu ki ncet ki guidline me saf likha hai ye ek patrta pariksha hai, par u.p kuch log abhi bhi kalpnik jagt me ji rahe hai.

Gaurav Yadav said...

UPTET : टीईटी से भर्ती में फिर नजर आई 'रोशनी'
सहारनपुर : इस बार दीपावली उन लाखों टीईटी(शिक्षक पात्रता परीक्षा)अभ्यर्थियों के जीवन में 'उजाला' तो नहीं कर सकेगी जो एक वर्ष से नियुक्ति की आस संजोए बैठे थे, लेकिन एकझरोखे से 'रोशनी' की किरण उन्हें जरूर दे रही है। एक माह के भीतर विज्ञापन जारी करने के हाईकोर्ट के ताजा आदेश से उम्मीदों को पंख लग गए हैं।
टीईटी की मेरिट के आधारपर प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति। यह प्रावधान नवंबर-दिसंबर2011 में जारी विज्ञापन में निर्धारित था। बता दें कि प्रदेश में टीईटी की प्राथमिक परीक्षा में 2.70 लाख से अधिक अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए थे। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान पटनी में 800 पदों के सापेक्ष 1.15 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन पत्र भरे थे। फरवरी-2012 में घोटालासामने आने के बाद तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन सहित कई लोग गिरफ्तार हुए थे और इसके बाद प्रक्रिया पर विराम लग गया था। इसी केसाथ भर्ती के विज्ञापन के आधार को लेकर मामले को हाईकोर्ट में चुनौतीदी गई। प्रदेश सरकार द्वारा भर्ती प्रक्रिया का आधार बदले(टीईटी को केवल पात्रतारखने) जाने के बाद से पूरा मामला और पेचीदा हो गया। टीईटी उत्तीर्णअभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया में घोषित मेरिट के आधार पर ही नियुक्ति की मांग पर अड़े है। हाल ही में हाईकोर्ट द्वारा प्रदेश सरकार को एक माह के भीतर विज्ञापन जारी करने का आदेश दिया है इसके आधार पर 72 हजार 825 प्राथमिक शिक्षकोंकी नियुक्ति की जानी है।
टीईटी उत्तीर्ण संघर्षमोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट केआदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है । जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारीरखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा ।

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा।

TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAM HIGH COURT JAYEN SA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI YADI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा।

TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAMe HIGH COURT JANA PADE YA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष संजय कुमार हाईकोर्ट के आदेश को बड़ी उपलब्धि मानते है। उनका कहना है कि एक वर्ष से जो अभ्यर्थी भर्ती प्रक्रिया को लेकर निराश हो चुके थे। आदेश के बाद अब उनमें नई चेतना जाग्रत हुई है। जिलाध्यक्ष का कहना है कि टीईटी की मेरिट से भर्ती करने की मांग को संगठन अपना संघर्ष जारी रखेगा। माना जा रहा है कि वर्ष-2013 का सवेरा टीईटी अभ्यर्थियों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा।

TET KO MATR PATRTA PARIXA NAHIN BANANE DIYA JAYEGA CHAHE HAMe HIGH COURT JANA PADE YA SUPREEM COURT. N.C.T.E. KE RULE ME TET KA RE EXAMINATION DEKAR NO. ME INCREASING KE LIYE KYON KAHA GAYA HAI. KISI BHI PARIXA KA IMPORTANCE USKE COMPETATIV HONE SE HOTA HAI YANI USASE YOGYATA BHI SABIT HOTI HAI.

amit said...

pankaj yadi tet kaval patrata ptrikshiya hai to ncte na ya q kha ke abhirtiya jab tak chiya tet exam dakar apna score badha sakta hai yadi ya patrata hai to jisna qulifiey kar liya bas ho gaya plese bhi ncert ke gide line to padho tab kamant karna
1 ahearta isliya hai ke isma numbaro ka vatage gai aour patrata is liya hai ke pas karna walo ki hi marit banagi
so please dont create rumuras thanks

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

court's order copy will upload in diwali's holiday, after sign by the honorable court becouse of more than one thousand interim order is in pending for the sign..........................Some tetians are confused for last para. of enterim order ?
...... I confirm it := last para of enterim order are written by the court after arguing Shalendra sir & mattar of argument is := SIR AAP BAR-BAR New add. & amendment GOV. KO LANE KE LIYE KAH RAHE HAI AUR YADI GOV. NAYE Amended Rules SE New Add. LATI HAI TO HAM TO Backfoot PAR HO JAYEGE In fact HAM CHAYAN SE BAHAR HO JAYEGE KYOKI GOV. New Amendment ME Criteria of selection BADAL CHUKEE HAI.............tab judge sahab ne kaha '' AISA KOI SANSODHAN NA KARE KI JISASE PRAKASHIT HONE WALE VIGYAPTI DWARA YACHIYO (PITITIONAR) KE ADHIKARO PAR KOI PRATIKOOL PRAVHAV PADE".......................I think all of you can stand also last para of interim order are written by the court when Mr.Shailendra sir arguing & comment on the criteria of selection not on any type of age matter.

virendra said...

bharty tet merit se hi honi chahiye

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

MERA DIL KAHATA HAI KI JIS TARAH TETIONS NE TET K LIYE ITNI MEHNAT KI AUR YADI UNHEN MATR 90NUMERS K BHAW TAULA GAYA TO YE SABHI KE SATH ANYAY HOGA AUR YADI WASTAV ME KAHIN BHAGWAN HAIN TO VE JAROOR NYAY KARENGE AUR JUDGE MAHONAY KO ISKA POORN NYAY KARNE KI PRERNA DENGE.

TET KO MATR PATRTA PARIXA IS LIYE BHI NAHIN MANA JA SAKTA BECAUSE 83 NO. PANE WALE KI APEXA 140 NO. PANE WALA CANDIDATE NISCHIT ROOP SE USASE YOGY HAI.
NC.T.E. NE BHI SHAYD YAHI SOCH KAR IS EXAM ME DOBARA BAITH KAR APNI YOGYTA PUNAH SABIT KARNE K AUR MAUKE DENE KI BAT KAHI HAI.

GUNWATTAPOORN SIKSHHA KA AIM BHI IS EXAM KO FULL IMPORTANCE DENE SE HI POORN HOGA.

ABHI TAK COURT K RUKH SE TO AISA HI LAGATA HAI KI TETIONS KA AHIT NAHIN HOGA. BAKI EESHWR KI IXA.

PIYUSH SINGH said...

Prabhat ji kya bat hai koi update nahi kar rahe hai aur comment bhi karna muskil ho gaya hai. Ye blog to aisa nahi tha . Kuchh karo yaaaaaarrrrrrr.
Thanks.

sunil kumar tiwari sunlkmrr@gmail.com said...

yadi srkar chahti he ki bharti bina pareshani k ho to use har pahlu par gaur karna hoga wrna ni-ni write lagti rahegi. tet k number jodna ya wtage dena galat ni hoga iss se tetian aur accadmic smrthak dono khus ho jayenge.

kewal vacancy-vacancy ki rat lagane wale nira swarthi hain unhe merit base par bhi ray deni chahiye aur 90% tetions ki ray gunank+tet ki hai

yadi kisi ko merit me tet watage/marks jodne se problem he aur tet me dhandli ka tark deta to wo ye btaye ki wo tet ko radd krne ke pakch me ku ni tha. tet ko radd krne ka sbne virodh kun kiya??????????

abhishek mishra said...

aaj amar ujala me new news hai

anup kumar said...

helo

anup kumar said...

helo

Apoorv duvey said...

sahi kaha pankaj ji

abhishek mishra said...

bahut shanti hai...