BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Monday, 8 October 2012

ये निर्दोष तो गुनहगार कौन?

ये निर्दोष तो गुनहगार कौन?


सतीश श्रीवास्तव, फैजाबाद : लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी व फैजाबाद की कचहरियों में बम धमाकों के आरोपी युवकों से मुकदमा वापसी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिलाधिकारियों की राय जानने के लिए सरकार के पत्र में उन चारों युवकों को निदरेष माना गया है, जिनके खिलाफ एटीएस (आतंकरोधी दस्ता) चार्जशीट दाखिल कर चुकी है।
राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस प्रक्रिया पर सवाल उठ रहे हैं। सवाल यह है कि यदि यह चारों युवक निदरेष हैं तो फिर असली गुनहगार कौन है? बम धमाकों की जांच एटीएस से पहले पुलिस ने भी की थी। दोनों ही जांच में न केवल इन्हें दोषी पाया गया बल्कि इनके खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य अदालत में प्रस्तुत किए गए हैं। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदम्बा सिंह कहते हैं कि मुकदमा वापसी के लिए उच्चतम न्यायालय ने जो गाइडलाइन निर्धारित की है, उसके तहत जघन्य अपराध के आरोपियों से मुकदमे वापस नहीं लिए जा सकते। इन चारों पर तो देशद्रोह का भी आरोप है। जब मुकदमा न्यायालय पहुंच गया हो तो उस स्थिति में बिना न्यायालय की सहमति के सरकार मुकदमा वापस नहीं ले सकती, इसलिए मुकदमा वापसी की संपूर्ण प्रक्रिया ही विधि विरुद्ध है। बम धमाकों में न केवल कई निदरेष लोगों की जानें गईं थीं, बल्कि कई लोग जीवनभर के लिए अपाहिज भी हो चुके हैं। इनके परिवारीजनों को बम धमाके में शामिल लोगों को सजा मिलने का इंतजार था लेकिन मुकदमा वापसी की प्रक्रिया ने उन्हें हिलाकर रख दिया है। विधि विशेषज्ञ कहते हैं कि सचिवालय के न्याय अनुभाग द्वारा जिलाधिकारियों को भेजे गए पत्र में यह कहना कि ‘आतंकवाद के नाम पर निदरेष मुस्लिम युवकों..’ ही विधि विरुद्ध है।


मुसलमानों की हालत में सुधार की जरूरत

जागरण संवाददाता, लखनऊ : सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने माना कि प्रदेश में मुसलमान आर्थिक, सामाजिक और शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़े हुए हैं। मुख्यमंत्री ने रविवार को मुमताज पीजी कॉलेज में अंजुमन इस्लाहुल मुस्लामीन के स्थापना दिवस पर शिरकत की और कहा कि सरकार मुसलमानों को हर क्षेत्र में आगे लाने का प्रयास करेगी।
उन्होंने अंजुमन इस्लाहुल मुस्लामीन को एक करोड़ की मदद का एलान किया। उन्होंने कहा शिक्षा के क्षेत्र में आगे आए बगैर न देश तरक्की करेगा न प्रदेश। यही वजह है हम शिक्षा को बढ़ावा पर बल दे रहे हैं। मुसलमान लड़कियों को कन्या विद्याधन जल्द ही दे दिया जायेगा। पुराने शहर का विकास होगा और इसके लिए 25 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे। मुसलमानों ने समाजवादी पार्टी को वोट देकर जो यकीन हम पर किया है हम उसको कायम रखेंगे।
मुसलमानों की हालत में सुधार की जरूरत

Source - Jagran
08-10-12

9 comments:

prakash said...

Govt. kewal vote k liye aisa kar rai hai,ye wahi s.p. hai jo FDI ka virodh karti hai aur cong. se suport bi wapas nai legi,
vote k liye hamara cm laaden ko bi ABBA kah sakta hai.

irshad ahmad said...

rajneeti h hi iska naam

SUNIL SAROWAR said...

शिक्षक भर्ती पर समाजवादी सरकार का समाजवादी दाँव

http://shyamdevmishra.jagranjunction.com/2012/10/07/शिक्षक-भर्ती-पर-समाजवादी/

Plz uper link news/lekh ko editor ji publish karen.

SUNIL SAROWAR said...

ये न्यूज सबको ( Flat merit/gunank mrit/tet merit ) हिलाकर रख देगी l

prabhkar barnwal 9696243551 ghazipur said...

news updated-


jaisa ki ap sab ko pata hai ki ab tak na to koi notification jari hua hai aur na hi kisi sarkari aadmi ne bharti se judi koi conference ki hai.
Isli ye ab ye spasht ho chuka hai ki adv. Kal nahi aayega.
Mark karne wali bat ye hai ki sarkar ka ravaiyya agar iske prati udaseen hai to LUCKNOW BENCH me ARVIND ke case ka kya hoga.
Agar satkar COUNTER AFFIDAVIT dakhil karne me nakam ho jati hai to YACHI ko antarim Raahat mil jayegi.
Yani SARKAR ne jis MANSHA se ADVERTISMENT RADD kiya tha use nishprabhavi mante hue purane ADV. ko lagu karne ke liye PRESSURE BANAYEGI.

IS CONDITION ME GOV. KO DUBARA PANA PAKSH RAKHNE KE LIYE TIME CHAHIYE HOGA, MATLAB AUR LATE!

AGAR SARKAR IS MAMLE PAR CHOOK JATI HAI AUR PURAANE ADV. KO LAGU KARNE PAR MUHAR LAG JATI HAI TO FIR EK SHASNADESH, FIR SANSHODHAN YANI KI PRAKRIYA 2 MAAH SE BHI JYADA LATAK JAYEGI.

HAR KISI KO NAUKRI CHAHIYE LEKIN KOI APNI SHARTEIN BADALNE KO TAIYYAR NAHI HAI.KITNE LOG DIPPRESION KE KARAN ROJ GHUT GHUT KE MARTE HAI UNKA KISI KO KHYAYAL NAHI.
KISI KO AGE KA DAR HAI, KISI KO NA SELECT HONE KA,KISI KO BACCHO KE FUTURE KI FIKR HAI TO KISI KA KHUD KA FUTURE DAV PAR LAGA HAI.


AAKHIR KAB UTHENGE HUM IS KHOKHALI AUR KAMJOR RAJNEETI SE UPAR?
KAB SUDHRENGE HUM?
KAB KHULENGI HAMAARI ANKHEIN?


AAPKE VICHARON KA SWAGAT HAI!

prabhkar barnwal 9696243551 ghazipur said...

news updated-


jaisa ki ap sab ko pata hai ki ab tak na to koi notification jari hua hai aur na hi kisi sarkari aadmi ne bharti se judi koi conference ki hai.
Isli ye ab ye spasht ho chuka hai ki adv. Kal nahi aayega.
Mark karne wali bat ye hai ki sarkar ka ravaiyya agar iske prati udaseen hai to LUCKNOW BENCH me ARVIND ke case ka kya hoga.
Agar satkar COUNTER AFFIDAVIT dakhil karne me nakam ho jati hai to YACHI ko antarim Raahat mil jayegi.
Yani SARKAR ne jis MANSHA se ADVERTISMENT RADD kiya tha use nishprabhavi mante hue purane ADV. ko lagu karne ke liye PRESSURE BANAYEGI.

IS CONDITION ME GOV. KO DUBARA PANA PAKSH RAKHNE KE LIYE TIME CHAHIYE HOGA, MATLAB AUR LATE!

AGAR SARKAR IS MAMLE PAR CHOOK JATI HAI AUR PURAANE ADV. KO LAGU KARNE PAR MUHAR LAG JATI HAI TO FIR EK SHASNADESH, FIR SANSHODHAN YANI KI PRAKRIYA 2 MAAH SE BHI JYADA LATAK JAYEGI.

HAR KISI KO NAUKRI CHAHIYE LEKIN KOI APNI SHARTEIN BADALNE KO TAIYYAR NAHI HAI.KITNE LOG DIPPRESION KE KARAN ROJ GHUT GHUT KE MARTE HAI UNKA KISI KO KHYAYAL NAHI.
KISI KO AGE KA DAR HAI, KISI KO NA SELECT HONE KA,KISI KO BACCHO KE FUTURE KI FIKR HAI TO KISI KA KHUD KA FUTURE DAV PAR LAGA HAI.


AAKHIR KAB UTHENGE HUM IS KHOKHALI AUR KAMJOR RAJNEETI SE UPAR?
KAB SUDHRENGE HUM?
KAB KHULENGI HAMAARI ANKHEIN?


AAPKE VICHARON KA SWAGAT HAI!

RS TIWARI said...

IS NEWS ME KYA HE ?
SUNIL SAROWAR JI AAP HI BATA DO NA

SUNIL SAROWAR said...

Mere operamini4.4 me copy/paste function na hone ke karan itna type karna muskil hai. sorry.
koi mahanubhav jinme yah facility hai plz help.

virendra swaroop said...

cm hamara kamina hai