BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Sunday, 26 February 2012

पूर्व निदेशक संजय मोहन समेत दस पर गैंगस्टर

रमाबाईनगर, 25 फरवरी (जासं) : शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में वसूली के आरोप में पकड़े गए पूर्व माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन समेत दस लोगों के खिलाफ अकबरपुर कोतवाली में शनिवार को गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज किया है। एसपी की रिपोर्ट पर डीएम के अनुमोदन के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर शिवली कोतवाल को प्रकरण की जांच सौंपी है। सीओ सुभाष शाक्य ने बताया कि मामले में एक दर्जन लोग अब तक गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पूर्व निदेशक संजय मोहन, नरेंद्र प्रताप सिंह, रमाशंकर मिश्र, विनय सिंह, रतन कुमार, अमरेंद्र कुमार, मनीष चतुर्वेदी, माधव सिंह, हेमंत कुमार व योगेश कुमार के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की गई है।
जमानत पर सुनवाई टली : संजय मोहन की जमानत पर शनिवार को सुनवाई नहीं हो सकी। अभियोजन की ओर से दस्तावेज न होने की दलील देकर समय मांग लिया गया। रमाबाईनगर के जिला जज अली जामिन की अदालत में शनिवार को संजय मोहन की जमानत पर सुनवाई होनी थी। इसी दौरान डीजीसी क्रिमिनल शंभूनाथ यादव ने अदालत में प्रार्थना पत्र दिया। उन्होंने दलील दी कि इस मामले से जुड़ी एक याचिका की सुनवाई 24 फरवरी को उच्च न्यायालय में होनी थी लिहाजा मामले से जुड़े दस्तावेज और केस डायरी वहां भेजी गयी है। उन्होंने दस्तावेज आने तक के लिए समय की मांग की। अदालत ने मांग स्वीकार करते हुए सुनवाई के लिए एक मार्च की तारीख तय की है।
Source- jagran
25-2-2012
white
white

2 comments:

Anonymous said...

संजय मोहन सहित दस पर गैंगस्टर

टीईटी में धांधली

रमाबाई नगर (एसएनबी)। शनिवार को पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र दुबे ने माध्यमिक शिक्षा परिषद के पूर्व निदेशक संजय मोहन समेत 10 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की। बताते चलें कि शिक्षक पात्रता परीक्षा में असफल अभ्यर्थियों को पास कराने के लिए संजय मोहन को लखनऊ से गत 8 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। इसके पूर्व भी अन्य आरोपी गिरफ्तार किये गये थे। पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र दुबे ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि शिक्षक पात्रता परीक्षा में असफल अभ्यर्थियों को पास कराने के लिए गत 31 दिसम्बर को आगरा से लखनऊ लिए जा रहे 87 लाख रुपयों को अकबपुर कोतवाली के समीप पकड़ लिया गया था। जिसमें विनय सिंह पुत्र मेहरवान सिंह निवासी प्लाट नं. 3 बजरंग आपार्टमेंट थाना छाता आगरा, रतन कुमार पुत्र कैलाशचंद्र निवासी छतखरी थाना अलीगंज एटा, अमरेंद्र कुमार पुत्र काशी प्रसाद निवासी गडियापतर थाना घुघारा संतकबीर नगर,देशराज पुत्र दर्शन सिंह निवासी मुबई थाना डौकी आगरा, अशोक मिश्र पुत्र योगेश मिश्र निवासी याकूबगंज थाना सहावन एटा को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद गत 6 जनवरी को मनीषचतुव्रेदी पुत्र सुरेंद्र नारायण निवासी पृथ्वीपुर थाना इकदिल इटावा,माधव सिंह पुत्र सत्यप्रकाश निवासी बाधनू थाना बरहन आगरा, हेमंत कुमार पुत्र राधेश्याम निवासी रेलवे लाइन कोतवली मैनपुरी, योगेश कुमार पुत्र तेज सिंह निवासी तेजपुर थाना एटा फिरोजाबाद को Rs35 हजार के साथ गिरफ्तार किया गया था। एसपी ने बताया कि गत 11 जनवरी को गिरफ्तार किए गए नरेंद्र प्रताप सिंह एपीसी (एसोसिएट प्रोगाम कोआर्डिनेटर) सारक्षता निकेतन कला कुंज राज्य संसाधन केंद्र मानस नगर पुत्र पारस नाथ सिंह निवासी 11 ए लिटेरसी हाउस लखनऊ और राम शंकर पुत्र राम मिश्र निवासी 578 विकास खंड गोमती नगर लखनऊ ने पूछताछ में बताया था कि टीईटी परीक्षा पास कराने का पूरा रैकेट काम कर रहा है। जिसके मुख्य सूत्राधार संजय मोहन हैं। इसी के बाद से संजय मोहन की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू हो गये थे। गत 8 फरवरी को गिरोह के मुख्य सूत्रधार माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन पुत्र बृजनारायण को उनके जेडीटीसी कैम्पस निशातगंज लखनऊ से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। शनिवार को पुलिस अधीक्षक ने सभी पर गंभीर आरोपों के चलते गैंगस्टर की कार्रवाई की। श्री दुबे ने बताया कि पूर्व डायरेक्टर संजय मोहन, नरेन्द्र प्रताप सिंह, रतन कुमार, विनय कुमार सिंह, मनीष चतुव्रेदी, माधव सिंह, अमरेंद्र कुमार, हेमंत कुमार, योगेश कुमार, राम शंकर के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की गयी।मामले की जांच जारी है और जो भी दोषीमिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
rastriya sahara

prabhat said...

Mr.said ji please news ke sath news ka link bhi post kiya kare.
Thanks