BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Sunday, 16 September 2012

एससी/एसटी की तरह विकलांग भी पिछड़े : हाईकोर्ट

UPTET - टीईटी - TET

एससी/एसटी की तरह विकलांग भी पिछड़े : हाईकोर्ट


पवन कुमार, नई दिल्ली
देश में विकलांग युवक-युवती भी उतने ही पिछड़े हुए हैं, जितना की एससी/एसटी वर्ग के लोग। विकलांग लोगों को भी एससी/एसटी वर्ग के लोगों की तरह नौकरी या शिक्षा पाने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है। ऐसे में विकलांगों को एससी/एसटी के बराबर का दर्जा दिया जाना चाहिए। यह टिप्पणी करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एके सिकरी व जस्टिस राजीव सहाय एंडलॉ की खंडपीठ ने दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी (डीटीयू) से बीटेक करने के इच्छुक एक विकलांग छात्र को राहत देते हुए कहा कि विकलांग को भी दाखिले के समय नम्बरों में उतनी ही छूट मिलनी चाहिए, जितनी एससी/एसटी को दी जाती है।
दिल्ली उच्च न्यायालय ने डीटीयू को निर्देश दिया है कि वह अपने पिता के जरिये याचिका दायर करने नाबालिग को बीटेक में दाखिला दे। खंडपीठ ने कहा कि नियमों के अनुसार सामान्य कैटेगरी के छात्र को दाखिले के लिए न्यूनतम साठ प्रतिशत नंबर मिलने चाहिए। जबकि एससी/एसटी के लिए पचास प्रतिशत की जरूरत है। डीटीयू विकलांग छात्रों को पाच प्रतिशत की छूट देता है। ऐसे में इस छात्र को दाखिले के लिए 55 प्रतिशत नंबर चाहिए थे, जबकि उसके नंबर 50 से 55 प्रतिशत के बीच में आए है। ऐसे में अगर उसे भी एससी/एसटी के बराबर छूट दी जाए तो वह दाखिले के लिए योग्य हो जाता है। इसलिए डीटीयू को निर्देश दिया जाता है कि वह नियमों के हिसाब से उसके मामले पर विचार करे और उसे दाखिला दे।
उल्लेखनीय है कि डीटीयू में बीटेक में दाखिले से वंचित रहे एक विकलांग छात्र ने अपने पिता के जरिये उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर डीटीयू के उन नियमों को चुनौती दी थी। जिसमें एक विकलांग छात्र को दाखिले में न्यूनतम नंबरों में पाच प्रतिशत की छूट दी जा रही थी और एससी/एसटी को दस प्रतिशत। उसका कहना था कि वह पचास प्रतिशत तक अपाहिज है। उसके बारहवीं कक्षा में फिजिक्स, गणित व केमेस्ट्री में एग्रीगेट 52.66 प्रतिशत बन रहा है। जबकि एससी/एसटी के छात्रों को मिलने वाली छूट के बाद सिर्फ पचास प्रतिशत नंबरों की ही जरूरत होती है। ऐसे में उसे भी एससी/एसटी के बराबर छूट दी जाए।

Source - Jagran
15-9-2012

2 comments:

rampal singh said...

sc/st 50%wale sathiyo bahut sarm ki bat h ki hum ne allahabad ek miting rakhi or ap loge nahi pahunche abe kamino sudhar jao shangharsh karne se hi samasya ka smadhan ho sakta h kyonki india m apne hak ke liye ladna padata h tabhi jake apna hak milta h R.P.Singh



rampal singh said...

sc/st 50 % wale sathiyo chinta ki koi bat nahi h hamara kesh age badh raha h agar bigyapan m bhi serkar hame 50% par pass nihi karti h to hume turant stay mil jayegi yah hamare bakil ne kaha h par ap sabhi log sath milkar chalo tabhi hame hamara hak milega R.P.Singh 09878947213