BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Tuesday, 25 September 2012

UPTET - शिक्षण प्रशिक्षण दुरुस्त करने पर जोर

UPTET - टीईटी - TET


UPTET - शिक्षण प्रशिक्षण दुरुस्त करने पर जोर
जागरण ब्यूरो, लखनऊ : अध्यापक पात्रता परीक्षा पर उठे विवाद और शिक्षकों के पद पर बीएड डिग्रीधारकों को भर्ती करने की अनुमति हासिल करने के बाद बेसिक शिक्षा विभाग का जोर अब प्रदेश में शिक्षण प्रशिक्षण व्यवस्था को दुरुस्त करने पर होगा। शिक्षकों को सेवा से पहले दिये जाने वाले बीटीसी प्रशिक्षण को विनियमित करने के लिए विभाग कवायद शुरू कर चुका है। प्रदेश के परिषदीय स्कूलों में शिक्षक नियुक्त होने के लिए शैक्षिक योग्यता स्नातक और बीटीसी है। बीटीसी का दो वर्षीय प्रशिक्षण पूरा करने वाले प्रशिक्षु (अब अध्यापक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करना भी अनिवार्य) परिषदीय स्कूलों में शिक्षक नियुक्त होते हैं। बीटीसी प्रशिक्षण जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) तथा राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त और राज्य सरकार से संबद्ध निजी संस्थान देते हैं। प्रदेश में जितनी संख्या में शिक्षकों की जरूरत है, उसके अनुपात में बीटीसी ट्रेनिंग की व्यवस्था नहीं है। प्रदेश में हर साल औसतन 12 से 14 हजार शिक्षक रिटायर होते हैं और इससे कुछ ज्यादा ही बीटीसी प्रशिक्षण हासिल कर पाते हैं। इतना ही नहीं, राज्य में बीटीसी ट्रेनिंग के कर्णधार बने डायट प्रशिक्षकों की जबर्दस्त कमी से जूझ रहे हैं। डायट में टीचर्स ट्रेनर्स के 40 फीसदी पदों पर ही तैनाती है, शेष खाली हैं। राज्य में बीटीसी का सत्र भी नियमित नहीं है। निजी संस्थाओं को बीटीसी की संबद्धता देने के लिए कोई कैलेंडर भी तय नहीं है। हाल ही में एनसीटीई ने राज्य सरकार को परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों के पद पर बीएड डिग्रीधारकों को 31 मार्च 2014 तक शिक्षक नियुक्त करने की अनुमति तो दे दी लेकिन साथ में यह भी हिदायत दी कि राज्य सरकार बीटीसी प्रशिक्षण की व्यवस्था को दुरुस्त करे। शिक्षकों के सेवापूर्व प्रशिक्षण को विनियमित करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने नियमावली बनाने की कवायद शुरू कर दी है। इस संबंध में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद शासन को उप्र प्रारंभिक (बेसिक) शिक्षा प्रशिक्षण नियमावली 2012 का प्रारूप उपलब्ध करा चुका है। नियमावली को अंतिम रूप देने के लिए शासन में विचार विमर्श जारी है। नियमावली के प्रारूप को अंतिम रूप देने के बाद इसे कैबिनेट से मंजूर कराया जाएगा।


Source - Jagran
25-9-2012
--------------

 According to news this is BASIC SHIKSHA PRASHIKSHAN NIYAMAWALI 2012 not BASIC TEACHERS NIYUKTI NIYAMAWALI 1981 

8 comments:

PRABHAT DIXIT (BLOG EDITOR) said...

Use Chat Box for instant answering 1-click on + in chat box 2-register your user name and password 3-type message and press ENTER

Vishal Dubey said...

UPTET : कई के सपने हो गए चकनाचूर मधुबन ( मऊ) : आखिरकार एक लंबे इंतजार के बाद टीइटी के संबंध में सरकार का निर्णय आ ही गया। नए शासनादेश के अनुसार उत्तर प्रदेश में 72 हजार शिक्षकों के रिक्त पदों की भर्ती अब टीइटी परीक्षा में प्राप्त अंकों नहीं बल्कि हाईस्कूल, इंटर, बीए एवं बीएड में प्राप्त अंकों के योग से बनने वाली मेरिट सूची के आधार पर होगी । हां इसके लिये टीईटी परीक्षा में सफल होना अनिवार्य होगा। इस नये आदेश से एक तरफ जहां कइयों की बांछे खिल उठीं तो कइयों के चेहरे पूरी तरह मुरझा गये। कारण भी साफ है। वे अभ्यर्थी जिनके उपरोक्त परीक्षाओं में तो अच्छे अंक थे लेकिन टीइटी परीक्षा में 100 से नीचे अंक मिलने के कारण अपनी दावेदारी को लेकर पूरी तरह मायूस हो चुके थे, अचानक नये आदेश ने उनके पंख में उड़ान भर दी। दुबारी के जितेन्द्र कुमार, दरगाह के सतीश गुप्ता, संतोष शर्मा, आलोक वर्मा आदि जैसे कई अभ्यर्थी टीइटी परीक्षा में संतोषजनक अंक न पाकर भी अपनी नियुक्ति को लेकर आश्वस्त हैं। क्योंकि अन्य परीक्षाओं में इनके अच्छे अंक है वहीं परिसर के राजेश यादव टीइटी में 123 अंक पाकर भी अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। उपरोक्त परीक्षाओं में इन्हें जो अंक मिले हैं उसमें यह शायद ही अपने आप को मुकाबला में पाएं। यही हाल अजय शर्मा, लियाकत अली, श्रीराम, मनोज यादव जैसे लोगों की भी है जो टीइटी में अच्छे नंबरों से सफल होने के बावजूद अपने आप को दावेदारी से बाहर मानकर चल रहे हैं। अब तो आवेदन की प्रक्रिया शुरु भी हो चुकी है। बेचारे कर भी क्या सकते हैं

subodh maurya said...

A

nishant said...

very good news, ye news sahi hai because 10 12 BA BEd ke total ko bhi gudannk bola jata hai,cofusion door karne ke liye bbtc2008, btc2010,btc2011 ka vigyapan dekhe.yahi gudannk dekhker amar ujala, hindustan ne galat method ki afwa faila di.

nishant said...

hindustan amarujala total % ke gudannk ko LT Ka method samaj baithe
news is bajah se sahi hai because goverment order diet me ab aaya hai

nishant said...

भर्ती अब टीइटी परीक्षा में प्राप्त अंकों नहीं बल्कि हाईस्कूल, इंटर, बीए एवं बीएड में प्राप्त अंकों के योग से बनने वाली मेरिट सूची के आधार पर होगी । हां इसके लिये टीईटी परीक्षा में सफल होना अनिवार्य होगा।

Atul pandey said...

good news for me and all good marks student

RAJVEER SINGH CHAUHAN:J.P.NAGAR AMROHA said...

J