BREAKING NEWS

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शिक्षक भर्ती की तैयारी शुरू ***चुनावी गणित में भावी शिक्षकों पर भी डोरे *** :----

Tuesday, 11 September 2012

JBT - जेबीटी के 653 पदों पर शुरू होंगी भर्तियां

TET - टीईटी - TET

JBT - जेबीटी के 653 पदों पर शुरू होंगी भर्तियां


चंडीगढ़



appointment on 653 seats of jbt soon
शहर के सरकारी स्कूलों में जेबीटी टीचर बनने का सपना संजोए युवकों के लिए नौकरी का पिटारा खुलने जा रहा है। टीजीटी के 224 पदों के बाद अब जेबीटी के करीब 653 पदों को भरने की तैयारी शुरू कर दी गई है। शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) के तहत जेबीटी (कांट्रैक्ट) के इन पदों को भरने के लिए मंगलवार तक अखबारों में विज्ञापन जारी कर दिया जाएगा और दो महीने के अंदर भर्ती प्रक्रिया भी पूरी कर ली जाएगी। मालूम हो कि शहर के 107 सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए यह भर्ती प्रक्रिया शुरू की जा रही है।

मेरिट पर भर्ती, सीटीईटी अनिवार्य
वर्ष 2008 में 530 शिक्षकों की भर्ती में हुई धांधली से सबक लेते हुए शिक्षा विभाग अब सिर्फ मेरिट आधार पर ही एसएसए शिक्षकों की भर्ती करेगा। आवेदनकर्ताओं के एकेडमिक रिकार्ड पर ही मेरिट लिस्ट बनेगी और आवेदन करने से लेकर ज्वाइनिंग तक सब कुछ ऑनलाइन होगा। भर्ती के लिए न तो कोई लिखित परीक्षा होगी और न ही इंटरव्यू, लेकिन आवेदन करने वालों का सेंट्रल टीचर एलीजिबिलिटी टेस्ट (सीटीईटी) पास करना अनिवार्य होगा।

पहले लगा था अड़ंगा
शिक्षा विभाग ने मार्च-अप्रैल में जेबीटी के 653 पदों के लिए आवेदन मांगा था। साथ ही एचटैट और पीटैट पास करने वालों को भी आवेदन करने की अनुमति दी थी। 80 फीसदी एचटैट (हरियाणा) वाले ही मेरिट लिस्ट में आए। इस फैसले पर सीटीईटी पास होकर आवेदन करने वाले 50 आवेदकों ने कोर्ट में याचिका दायर की थी, उस पर कोर्ट ने इन पदों के लिए सिर्फ सीटीईटी वालों को ही योग्य माना। अब शिक्षा विभाग एनसीईटी नियमों के तहत सिर्फ सीटीईटी वालों को ही आवेदन की अनुमति देगा।
शिक्षा विभाग में टीजीटी के 224 पदों को भरने की प्रक्रिया आजकल जारी है। इन पदों के लिए 4 सितंबर तक आवेदन स्वीकार किए गए थे।

जेबीटी शिक्षकों की भर्ती को लेकर मंगलवार तक विज्ञापन जारी कर दिया जाएगा। इन शिक्षकों की भर्ती से स्कूलों को काफी शिक्षक मिल जाएंगे। स्थायी शिक्षकों की भर्ती में अभी कुछ समय लग सकता है।
- उपकार सिंह, डीपीआई स्कूल, चंडीगढ़ 

Source - Amar Ujala
10-9-2012

No comments: